Cricket

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर डिमांड और सप्लाई पर आधारित, तथा पारदर्शी प्रणाली से युक्त एक नई खोज, क्रिकेट खेल से अतिरिक्त लाभ:-

क्रिकेट का खेल लक्की नंबर का मेल:-

                                                      बच्चा हो या नौजवान, बुढा हो या बूढ़ी माता |

                                                       क्रिकेट खेल बनेंगे,    सबका भाग्य विधाता |

वैज्ञानिक की ओर से:–

राष्ट्र के समक्ष प्रस्तुत हैं, अधिक डिमांड और अधिक सप्लाई पर आधारित एक पेटेंट पारदर्शी लकी ड्रा की विधि वर्णन जो क्रिकेट खेल के रन संख्या के रिजनिंग पद्धति के तहत आविष्कृत किया गया है | जो राष्ट्रहित व जनहित में मनोरंजन दिलाते हुए प्रतिमाह 25 – 30 अरब रुपयों की लाभान्वित रोल अदा करेगी | जिसके अंतर्गत प्रतिमाह 12 – 15 अरब रुपयों से केंद्र सरकार की राजकोष की समृद्धि हेतु नए स्रोत बनेंगे | उतना ही रुपयों से प्रतिमाह देश की लाखों जनता भी लाभांवित होंगे |

इसके अंतर्गत सभी देशों में सैकड़ों प्रकार से गड़बड़ घोटाला करने वाली हजारों-लाखों लॉटरी कंपनियों खुद-ब-खुद बंद हो जाएंगे | जिसके द्वारा प्रत्येक दिन अरबों रुपया भोली-भाली जनता से विश्वासघात कर ठगाई करता है | उसकी ठगाई विधि इस प्रकार होता है:– लॉटरी कंपनियां अरबो रुपया के टिकट प्रत्येक दिन बेचता है और प्रथम पुरस्कार की लकी ड्रा नंबर, कंपनी के पास बचे हुए टिकट नंबर में से ही शो  कर देता है | इस प्रकार प्रथम पुरस्कार की बड़ी – बड़ी धनराशि खुद ही हड़प लेता है | जबकि उस पुरस्कार में धनराशि 1, 2, 5, 10 लाख से लेकर 1, 2, 5 करोड़ तक का होता है | इन्हीं सब गड़बड़ घोटाला को समझते हुए बहुत से राज्य सरकार लॉटरी के धंधे पर प्रतिबंध लगा दिए हैं |

लेकिन ये  धंधा डिमान्डेड होने के नाते प्रतिबंध लगाने के बाद भी नहीं रुक रही हैं छुपे रुस्तम तहत चल ही रही है | उसे भी वर्णित क्रिकेट खेल द्वारा पारदर्शी लकी ड्रॉ की सिस्टम पूर्ण रुप से समाप्त करेगी | यानी सरकार की मंशा भी पूर्ण होगी |

अब आगे प्रस्तुत हैं राष्ट्रहित व जनहित में इतनी बड़ी अद्भुत आर्थिक रोल अदा करने वाली पारदर्शी लकी ड्रा निकालने की विधि वर्णन, जो क्रिकेट खेल के आधार पर किस तरह पारदर्शी लकी ड्रा नंबर तैयार किया गया है | उसी वर्णन विधि का प्रस्तुति इस प्रकार है |

उदाहरणस्वरूप – ये रहे क्रिकेट खिलाड़ियों के दोनों पक्षों के नाम एवं उनके बनाए गए अलग-अलग रन संख्या:-

Aग्रुप का: –

खिलाडियों का नाम A B C D E F G H I J K
रन संख्या

 

108 21 50 14 27 80 09 88 20 12 56

 

B ग्रुप का: –

खिलाडियों का नाम क्ष
रन संख्या

 

100 82 55 64 46 37 37 19 00 10 20

 

अब आप देख रहे हैं A, B, C, D, E, F, G, H, I, J, K  एवं क ख ग घ च छ ज झ ट ठ ड दोनों पक्षों की खिलाड़ियों का नाम है और साथ में उन सब के बनाए हुए अलग अलग रंग संख्या (108, 21, 50, 14, 27, 80, 09, 88, 20, 12, 56  एव 100, 82, 55, 64, 46, 37, 37, 19, 00, 10, 20 ) की रूपरेखा है तथा प्रस्तुत रन संख्या के आधार पर जोड़, घटाव, गुणा, भाग, एकाई, दहाई के गणित पद्धति द्वारा करोड़ों प्रकार के विभिन्न पारदर्शी लकी नंबर बनाया जा सकता है | नीचे देख रहे हैं तमाम रन संख्या  के अंको से निकाले गए लकी ड्रा नंबर जो 1 से लेकर 36  प्रकार का उदाहरणस्वरूप कुछ लकी नंबर दर्शाया जा रहा है |

जिसमें प्रथम नंबर की लकी ड्रा (1) S – 12512 80  को किस प्रकार निकाला गया है उसकी विधि वर्णन इस प्रकार है ग्रुप A B C D E F G H I J K  खिलाड़ियों की रन संख्या की अंकों में से प्रत्येक रन संख्या के अंकों से शुरू का ही एक एक अंक लिया गया है

जैसे कि A खिलाड़ी का 108 रन संख्या हैं तो अगला अंक 1 हुआ, जिससे शुरू का लकी अंक 1 हुआ, B खिलाड़ी का 21 रन संख्या है तो अगला अंक 2 हुआ, जिससे दूसरा लकी अंक 2 हुआ, इसी प्रकार C खिलाड़ी का 50 रन संख्या है तो लकी अंक 5 हुआ, इसी तरह से D का 1 लकी अंक हुआ, E का लकी अंक 2, F  का लकी अंक 8, G का 0(जीरो)  हुआ |

इस प्रकार सात (7) खिलाड़ियों की रनसंख्या से आगे का अंक उठाकर S=12512 80 , सात(7) अंको वाली लकी ड्रा नंबर OK हुए | और नंबर के आगे S ग्रुप जो देख रहे हैं उसे तैयार करने का तरीका इस प्रकार से होगा |

सभी लकी ड्रा नंबरों को जोड़कर निकाले गए अंको को अर्थात जोडफल के हिसाब से अंग्रेजी के 26 लेटरो  में से एक लेटर सेलेक्ट कर लिया गया है इस प्रकार से S = 12511280 लकी ड्रा नंबर है, 1 + 2  + 5  + 1  +  2  + 8  + 0  = 19 , जोड़े हुए अंक अर्थात  जोड़फल 19 हुए | 19  के हिसाब से अंग्रेजी के 26 लेटरो  में 19 वा लेटर S होता है तो लकी नंबर के ग्रुप S हुआ |

इस तरह हम ,आगे एक-एक खिलाड़ी के रन को छोड़कर, दूसरी खिलाड़ी के रन को इस्तेमाल किया जा सकता हैं और भी पेटर्न के अन्तर्गत , एक खिलाड़ी प्रथम ग्रुप के और दूसरे खिलाड़ी द्वितीय ग्रुप के रन संख्या को विभिन्न प्रकार से मिलाकर 10 अरब से भी अधिक लकी नंबर कूपन बनाना आसान है | और इस प्रकार पूरी तरह खेल का रोमांच बना रहेगा और इसके तहत 10 अरब से भी अधिक लकी नंबर कंप्यूटर के माध्यम से तैयार करना आसान कार्य होगा |

इस तरह से अरबों लकी ड्रा तैयार किया जा सकता, लेकिन प्रत्येक शो में जिस विधि से लकी ड्रा निकाला जाएगा, उस विधि वर्णन का घोषणा पहले से किया जाएगा, ताकि उपभोक्ता रन को देखते हुए खुद अपना लकी ड्रा तैयार कर सकते हैं यही तो पारदर्शिता हैं इसकी |

पुरस्कार :-

इसमें पुरस्कार के मामले में प्रथम, द्वितीय, तृतीय पुरस्कार तो रहेंगे ही और साथ में दर्जनों डिवीजन का पुरस्कार तैयार किया जाएगा, जिसके तहत 6, 7 अंको में सभी अंक वाले को, मुनासिब पुरस्कार मिलेगा | इस तरह 1 अंक वाले को ₹1000 मिला तो | 2 अंक वाले को ₹10,000 मिलेगा और 3 अंक वाले को ₹50,000 मिलेगा | इसी तरह प्रत्येक अंक में बढ़ते-बढ़ते लाखों करोड़ों की पुरस्कार राशि बनते जाएगा | इस तरह की खासियत में यदि एक अरब लकी कूपन तैयार किया गया, तो कई करोड़ व्यक्ति इस पुरस्कार से निश्चित रूप से लाभान्वित होंगे इतनी बड़ी आकर्षण दृष्टिकोण से अधिक डिमांड एंड लकी कूपन बन जाएगा |

अब जमाना इंटरनेट का हो गया है | 10 अरब आबादी वाले एशिया महादेश की सभी जनसंख्या अब कहीं भी एक जगह बैठ कर घंटो – घंटो रूबरू वार्तालाप कर सकते हैं, ऐसे में राष्ट्रहित वा जनहित का कोई भी प्लान हो मिनटों में दिखाते तथा सुनाते हुए अच्छी तरह समझा सकते हैं ऐसे में कुछ देश को मिलाकर 2 – 3 अरब जनसंख्या के हिसाब से मात्र 2 अरब लकी कूपन ₹20 के दर से प्रति खेल पर बिक्री किया जाए तो प्रतेक महिना राष्ट्र को 20-30 अरब रूपया से भी अधिक प्राप्त होगा जो राष्ट्र के राजकोष की समृधि के लिए एक नई स्रोत बनेगा | देश की RBI BANK के माध्यम से तो, आमदनी का हिसाब इस प्रकार होगा

2 अरब * 20 = 40 अरब, यानी 40 अरब रुपया प्राप्त हुए | जिसका राष्ट्रहित व जनहित में वितरण इस प्रकार होगा

  1. लकी ड्रा विनर में 15 अरब रुपया जाएंगे जिसके तहत कई लाख व्यक्ति धनी होंगे और उस पैसे से कई नहीं रोजगार बनाएंगे उसके अंतर्गत कई लाख लोगों को काम मिलेगा
  2. और 10 अरब अन्य खर्च में होगा जैसे इंटरनेट सिस्टम तथा उसके संचालन स्टाफ लोगों में, इस तरह भी लाखों लोगों को रोजगार मिलेगा |
  3. बाकी ₹15 अरब रूपया राजकोष की धनराशि में जमा होगा और इस तरह प्रत्येक महिना होगा | यदि महीना में दो बार होता है तो इस प्रकार का लाभान्वित कार्य प्रति महीना डबल हो जाएगा |
  4. और लागत में एक करोड़ रुपया भी नहीं लगेगा क्योंकि एक रूम में बैठकर कंप्यूटर के माध्यम से 100 – 50 लोग डील कर सकते हैं |
  5. डिमांड और सप्लाई का अटूट संबंध होता है यदि डिमान्डेड विषय की संचालन गड़बड़ हो रही है तो, सूझबूझ से उसकी संचालन विधि को पारदर्शी बनाएं | ना कि इस पर प्रतिबंध लाएं, यह व्यर्थ होगा, गलत होगा क्योंकि ऐसे में भ्रष्टाचार के रास्ते से डिमांड पूरा किया जाएगा | क्योंकि डिमांड और सप्लाई का अटूट रिश्ता है इसे खत्म करना नामुमकिन है |
  6. मनुष्य का तन मन लोभ और आलस्य से भरा हुआ होता है वह आसानी से धन प्राप्त करना चाहता है इसी के अंतर्गत लॉटरी का खेल अधिक डिमान्डेड और अधिक सप्लाई वाला विषय बन गया है इसे खत्म करना मुश्किल ही नहीं असंभव है और ऐसे असंभव को संभव कर देने का क्षमता प्रस्तुत पारदर्शी लकी ड्रॉ की गतिविधि में हैं जो राष्ट्र के सामने प्रस्तुत हैं

क्रिकेट खेल के रन संख्या से निकाले गए विभिन्न लकी ड्रा नंबरों से राष्ट्रहित एवं जनहित में अनगिनत लाभ मिल सकता है | कुछ लाभों का वर्णन में अपनी साधारण योग्यता द्वारा रख रहा हूं | अनुरोध है कि हमारी लेखनी की भाषा त्रुटि पर ध्यान ना देते हुए कृपया इसकी सार भाव पर ही ध्यान देंगे तो बहुत कृपा होगी |

क्रिकेट खेल के माध्यम से लकी नंबर (अंक) प्रस्तुत करने से लॉटरी टिकट उपभोक्ताओं को लकी नंबर के शुद्धता पर कोई संदेह नहीं होगा | उनके मन में ऐसा विचार नहीं उठेंगे की लॉटरी खेलने वाली कंपनी के पास बचे हुए टिकटओ के नंबरों में से लकी ड्रा नंबर तो नहीं सो कर दिया ? इत्यादि |

इसलिए लकी नंबर को विश्वास पूर्ण बनाने के लिए क्रिकेट खेल के रन संख्या के आधार पर ही श्रेष्ठ बन सकता है तथा इस कार्य के अंतर्गत केंद्र सरकार को वैध अंक प्राप्त करने का एक स्रोत भी मिल जाएंगे | इस अंक के तहत देश में चल रही लॉटरी व्यवसाय एवं उसकी भाग्यशुद्धता को भलीभांति संभालकर राष्ट्रहित एवं जनहित में कई फायदा कर सकेंगे | जिसका कुछ निम्नलिखित वर्णन इस प्रकार है |

  1. केंद्र सरकार की राजकोष की समृद्धि के लिए एक नई स्रोत का साधन मिलेगा |
  2. देश में लॉटरी टिकट का व्यवसाय को केंद्र सरकार पूर्ण रुप से आसानी पूर्वक निरीक्षण कर पाएंगे |
  3. इन युक्ति के तहत बिना सरकारी आदेश से कोई भी लॉटरी कंपनियां नाजायज तरीके से लॉटरी व्यवसाय नहीं करेंगे |
  4. ऐसी स्थिति में केंद्र सरकार देशवासियों के हित में लॉटरी व्यवसाय की मात्रा को मुनासिब दायरे में संचालन कर पाएंगे |
  5. निकट भविष्य में देशवासियों की रोजमर्रा के काम आने वाली सैकड़ों प्रकार का सामान खाने पीने से लेकर इस्तेमाल करने तक के वस्तुओं के उत्पादन करने वाली कंपनियां भी अपने अपने सामानों की अधिक बिक्री हेतु क्रिकेट खेल के रन संख्या को पुरस्कृत हेतु इस्तेमाल कर सकते हैं |
  6. देश में हजारों लॉटरी कंपनियां ,लॉटरी टिकट का धंधा करती हैं, इसलिए जरूरी है कि प्रत्येक क्रिकेट खेल में रनसंख्या के आधार पर सैकड़ों प्रकार का लकी नंबर विधिवत तैयार किया जाए | तथा सैकड़ो प्रकार के लकी नंबर जिन विभिन्न विधि द्वारा निकाला जाए उस सभी विधि का स्पष्ट वर्णन हेतु केंद्र सरकार की ओर से जनता की जानकारी के लिए एक बुक प्रकाशित होनी चाहिए, ताकि उपभोक्ता गन के पास जिस विधि का लॉटरी टिकट का नंबर रहेगा उसे लकी नंबर हेतु खुद क्रिकेट खेल के अंत तक जांच कर लेंगे | इस पद्धति के द्वारा लकी नंबर निकालने में पक्षपात अथवा गड़बड़ी की कोई गुंजाइश नहीं रह जाती |
  7. जब देश में इस प्रकार के सरकारी अंक निकालने का स्रोत होगा तो लॉटरी की दुनिया में लकी नंबरों के लिए सिर्फ सरकारी अंक नंबर का ही प्रधानता होनी चाहिए तथा इस हेतु अन्य प्रकार से तैयार किया गया नंबर पर सरकारी प्रतिबंध होनी चाहिए तभी भाग्य का खेल भाग्य भरोसे होगा |
  8. क्रिकेट के खेल में 22 खिलाड़ी होता है इसमें लॉटरी खेल जुड़ जाने से प्रत्येक मैच में पचासों करोड़ खिलाड़ी को खेलने का मौका मिल जाएगा और सभी को खेल का हार जीत का आनंद मिलेगा | इस खेल के तहत कोई हारा तो गम नहीं, जीता तो कोई गम नहीं | क्योंकि जीतने वाला हजारों लोग मालामाल हो जाएगा | यानी खुशियां के अलावा गम की कोई बात नहीं | मजा ही मजा |
  9. प्रत्येक क्रिकेट खेल में कोई एक ही खिलाड़ी मैन ऑफ द मैच होता है लेकिन क्रिकेट खेल में लॉटरी खेल जुड़ जाने से प्रत्येक मैच में गौर करें तो हजारों लोग मैन ऑफ द मैच बन जाएंगे |
  10. अब तक क्रिकेट खेल दर्शकों को मनोरंजन के अलावा कुछ नहीं दे पाई, लेकिन इस अंक युक्ति के रिजनिंग पद्धति के जुड़ जाने से हजारों क्रिकेट दर्शकों को, प्रत्येक क्रिकेट मैच में लखपति भी बनाएंगे | जनहित में इतनी बड़ी आर्थिक लाभ सरकारी अथवा प्राइवेट की कोई संस्था यह योजना नहीं दे पाई जो खेल खेल मैं क्रिकेट खेल दे सकती हैं |
  11. क्रिकेट और लॉटरी खेल को एक हो जाने के बाद क्रिकेट कमेंट्रेटर को सुनाने के लिए ऐसा ऐसा मनोरंजन पूर्ण बात बोलेंगे कि सुनने वालों का तन मन धन सब खिल खिल जाएंगे |
  12. आंखें देखी क्रिकेट खेल देखने में जो हर्ष एवं उल्लास मिलता है वह खूबियां वही खेल को कुछ देर बीत जाने के बाद देखने में नहीं मिलता |

उसी प्रकार लॉटरी खेल के निकाल चुके लकी ड्रा को एक क्षन  में दिखा देने के बजाय, लकी नंबर निकालते हुए प्रक्रिया को आंखों देखी तहत दिखाया जाए, वह भी 4, 6  घंटे के लागत समय में तो यह अत्यधिक हर्ष एवं उल्लास का विषय होगा | जो अब तक नहीं हुआ है और इस आश्चर्यजनक खूबियां क्रिकेट खेल के तहत निश्चित हो सकती हैं | इस लाभान्वित आकर्षण को देखते हुए कई देश इस नायाब नुस्खा को अपनाएंगे | जिसका श्रेय भारत देश को मिलेगा |

उपरोक्त में वर्णित खासियत के कारण क्रिकेट खेल से मिलने वाली हर्ष एवं उल्लास में अत्यधिक वृद्धि हो जाएगी जिससे क्रिकेट खेल की लोकप्रियता और आकर्षण में चार चांद लग जाना संभव हो जाएगा |

अतः श्रीमान से अनुरोध है कि क्रिकेट बोर्ड कमेटी के वरिष्ठ अधिकारियों से इस अनोखे युक्ति की कार्यप्रणाली से अवगत कराने हेतु मुझे साक्षात्कार दिलाने की कृपा करेंगे |

विस्तृत जानकारी के लिए इसके दस्तावेज का सहारा ले सकते हैं जो अंतरराष्ट्रीय कॉपीराइट पेटेंट संस्थान भारत सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त हैं |

नोट : – प्रस्तुत विषय की खासियत को ध्यान में रखते हुए कई राष्ट्रीय स्तर के अखबार प्रशंसा में कई न्यूज़ भी प्रकाशित कर चुके हैं |

सिलेक्टेड विषय : – डिमांड और सप्लाई

डिमांड है जहां सफाई हैं वहां, इसलिए डिमांड, सप्लाई को सेलेक्ट माना गया हैं | इसलिए कोई भी बिजनेस का एक ही आधार होता है “डिमांड

  1. डिमांड और सप्लाई का अटूट संबंध है जहां डिमांड है वहां सप्लायर होना कुदरती देन है |
  2. डिमांड जहां है दौलत वहां है आर्थिक स्रोत वहीं से बनाया जा सकता है तथा रोजगार मुहैया किया जा सकता है |
  3. डिमांड है तो सप्लाई हैं इस नाते हर डिमान्डेड चीज सिलेक्टेड है | इस सिद्धांतिक सत्य को अंजाम देने का माध्यम सही होना चाहिए |
  4. बहुत बड़ा डिमांड राष्ट्र की संपत्ति हैं, लकी ड्रा बहुत बड़ा डिमांड है क्योंकि पूरी दुनिया में भारी मात्रा में लकी ड्रॉ का धंधा देखा जा सकता है |
  5. यदि डिमांड एक चीज के सप्लाई को रोका जाए तो रोकने वाली हर एक माध्यम भ्रष्टाचार को बढ़ावा देगा |
  6. देश में अमीरी बढ़ाओ वाली योजना चलाया जाए तो गरीबी खुद-ब-खुद कम होती चली जाएगी | प्रस्तुत पारदर्शिता ड्रा सिद्धांत के संचालन से प्रत्येक दिन देश में हजारों परिवार लखपति बनेगें | ऐसे में देश में हर रोज 1000 परिवार की गरीबी घटेगी |
  7. डिमांड, सप्लाई, सिलेक्ट : – हर डिमांड चीज सिलेक्टेड है इसलिए डिमान्डेड चीज की सप्लाई का कई स्रोत खुद-ब-खुद बन जाते हैं यह सिद्धांत कुदरत का देन है इसलिए कुदरत भी साथ देती हैं |
  8. स्पष्ट तौर पर देखा जाए तो लकी कूपन (लॉटरी धंधा) का इतना अधिक डिमांड है कि लाख कानूनी प्रतिबंध होने के बावजूद भी हजारों कंपनियों के माध्यम से प्रत्येक दिन अरबों रुपया का धंधा होता है क्योंकि लकी ड्रा अरबों की संख्या में जनता की डिमान्डेड विषय हैं |
  9. देश में कई प्रकार के प्राकृतिक प्रकोप जैसे – बाढ़, सूखा, भूकंप, आंधी, तूफान, महामारी, दुर्घटना इत्यादि के कारण भारी संख्या में लोग मर जाते हैं, तबाह एवं बर्बाद हो जाते हैं | ऐसी स्थितियों में प्रस्तुत पारदर्शिता सिद्धांत के अंतर्गत अरबों रुपया को तुरंत एकत्रित करा कर भारी मात्रा में क्षतिग्रस्त लोगों को संतोषजनक आर्थिक मदद कर सकती हैं |
  10. पारदर्शिता युक्ति संचालन के अंतर्गत गड़बड़ घोटाला का रास्ता ना मिलने के कारण आधे से अधिक कंपनियां लॉटरी का धंधा ही छोड़ देगी | केंद्र सरकार भी यही चाहती हैं | सोचने वाली बात है कानून के तरफ से लाख प्रतिबंध के बावजूद भी लॉटरी धंधा पर रोक नहीं लगा पाई; उस लॉटरी धंधा को प्रस्तुत पारदर्शिता युक्ति खेल खेल में ही लगाम लगा सकती हैं | इसके अंतर्गत सरकार इस धंधा को मुनासिब मात्रा में संचालन करने में सफल एवं शूफल हो सकती हैं |
  11. मैथमेटिक्स सिद्धांत है: –

                     +       .      +       =       +                          यानी, लाभ – लाभ = लाभ होता है |

                      +        .       –      =        –                           यानी, लाभ – घाटा = घाटा होता है |

                       –         .       –     =       +                           यानी, घाटा  – घाटा = लाभ होता है |

अर्थात दो विषय की घाटा को नियमपूर्वक संभालने से लाभ स्वरुप में डाला जा सकता है  प्रस्तुत मैथ सिद्धांत के हिसाब से क्रिकेट खेल और लकी ड्रा खेल के आकर्षण राष्ट्रहित एवं जनहित में हानि ( – ) पहुंचाती हैं |

जैसे क्रिकेट खेल के दिन देश में सरकारी संस्था हो या प्राइवेट दोनों विभाग का काम आधे से अधिक  ठप हो जाता है यानी राष्ट्रहित जनहित में घाटा ( – )

और लॉटरी धंधा के माध्यम से हजारों लॉटरी कंपनियां गड़बड़ घोटाला कर भोली भाली जनता से हर रोज अरब रुपया का ठगाई  करता है यानी राष्ट्रहित जनहित में घाटा ( – )

यदि क्रिकेट घाटा और लकी ड्रा घाटा को प्रस्तुत विषय की पारदर्शिता सूत्र के अंतर्गत गुजारने से दोनों  घाटे वाली खेल राष्ट्रीय एवं जनहित में प्लस पॉइंट का रोल अदा करती हैं ऐसे में प्लस पॉइंट को क्यों छोड़ा जाए |

13. जीवन का सुख दुख कर्म और भाग्य दोनों पर आश्रित है हमारी सरकार कर्म के लिए सैकड़ प्रकार के स्रोत दिए हैं | उसी प्रकार भाग्य माध्यम के प्रति भी कुछ स्रोत होनी चाहिए | इसी भाग्यशाली कार्य को अंजाम देने के लिए राष्ट्र के समक्ष प्रस्तुत हैं लकी ड्रा निकालने हेतु पारदर्शिता फार्मूला |

अंतरराष्ट्रीय स्तर पर डिमांड और सप्लाई पर आधारित, तथा पारदर्शी प्रणाली से युक्त एक नई खोज, जो इसी आधार पर  ऊपर परस्तु किये गये  हैं |      

डिमांड और सप्लाई का अटूट रिश्ता है | इसी आधार पर दुनिया में सभी प्रकार के बिजनेस हो रहे हैं | ऐसे में अगर कोई धंधा राष्ट्र हित एवं जनहित में हानि पहुंचाती हो तो बेहतर होगा, उस धंधे की अपारदर्शिता प्रणाली को पारदर्शिता प्रणाली में डाला जाए | जो पारदर्शिता की प्रत्यक्ष में गड़बड़ी खुद-ब-खुद समाप्त हो जाएगी | यह ना की डिमांडे धंधे को रोकने के लिए कानूनी प्रतिबंध लगाया जाए | क्योंकि डिमान्डेड धंधा राजकोष की समृद्धि के लिए भी महत्वपूर्ण स्रोत होता है |

डिमान्डेड धंधा पर कानूनी प्रतिबंध होने से वह धंधा और गलत रास्ता अख्तियार कर सप्लाई को पूरी करती हैं | जो भ्रष्टाचार पैदा करने वाली गतिविधि कहलाते हैं | जिसके अंतर्गत चोर और पुलिस का मनचाहा खेल होता है | यानि किसी डिमान्डेड वस्तु की बिक्री पर प्रतिबंध और बड़ी-बड़ी गड़बड़ी ही उत्पन्न करती हैं | जो राष्ट्रहित एवं जनहित में लगातार नुकसान पहुंचाती हैं |

इसलिए डिमान्डेड धंधे से उत्पन्न बुराइयों को खत्म करने के लिए बेहतर होगा, उस धंधा पर प्रतिबंध ना लगा कर उस धंधे की संचालन पद्धति को पारदर्शिता प्रणाली के अंतर्गत चलाया जाए | तो  पारदर्शिता के प्रत्यक्ष में गड़बड़ी खुद-ब-खुद समाप्त हो जाएगी | तब रहेगी धंधे में सच्चाई और अच्छाई | जो धंधे की सही उद्देश्य को सफल और शूफल करेगी |

प्रस्तुत पारदर्शी लकी ड्रॉ फार्मूला इनही विचारों के  अंतर्गत तैयार किया गया है | शोधकर्ता : शंकर मंडल की ओर से

अपने देश में हजारों कंपनियां लॉटरी खेल का आयोजन (धंधा) घोटाला पूर्वक कर रही हैं | जिसके तहत राष्ट्रहित एवं जनहित में प्रतिदिन कई करोड़ रुपयों की क्षति पहुंचा रही हैं | इसलिए केंद्र सरकार लॉटरी खेल धंधे पर कानूनी ढंग से प्रतिबंध लगाए हुए | हैं फिर भी सभी राज्यों में लॉटरी खेल का धंधा घोटाला पूर्वक खुलेआम चलाया जा रहा हैं |

सभी राज्यों के नामी अखबार हिंदुस्तान, दैनिक जागरण एवं और भी दर्जनों नामी अखबार सैंकड़ों कंपनियों की लॉटरी टिकट का लकी नंबर रिपोर्ट हर रोज छपती हैं | कानून के उल्लंघन का नमूना इससे बड़ा और क्या हो सकता है | यानी केंद्र सरकार के लाख कोशिश के बावजूद भी लॉटरी धंधा नहीं रुक रही हैं |

अब तो यहां तक देखा जा रहा है | देश के हजारों बड़ी बड़ी कंपनियां अपने विभिन्न प्रकार के प्रोडक्शन ( वस्तु ) बिक्री हेतु भी लकी ड्रा का धंधा चला रही  हैं | इसका प्रचार टीवी के सैकरो चैनलों पर हर रोज देखा जा रहा हैं |

इसका मुख्य कारण है कि लॉटरी का खेल लोभी मन के अंतर्गत होता है और आदमी का मन लोभ  से भरा हुआ होता है इसलिए इस खेल का डिमांड सभी देशों में देखा जा सकता है | जब डिमांड है तो सप्लाई होकर ही रहेगा | क्योंकि डिमांड और सप्लाई का अटूट रिश्ता होता है किसी भी मामले में |

इसलिए लाख कोशिश के बावजूद भी लॉटरी धंधा बंद नहीं हो रही है  क्योंकि यह धंधा भी डिमान्डेड हैं |

लॉटरी खेल को लेकर जब ऐसी स्थिति हैं तो क्यों ना इस ड्रा खेल को पारदर्शिता प्रणाली में ढालते हुए एक सही दिशा दिया जाए, जिसके अंतर्गत अत्यधिक आर्थिक रूप से राष्ट्र हित एवं जनहित में बड़ी-बड़ी रोल अदा किया जा सके |

इसी कार्य को अंजाम देने के लिए मैं क्रिकेट खेल के माध्यम से युक्त एक पारदर्शिता फार्मूला अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रस्तुत कर रहा हूं | जो लॉटरी धंधा का खेल को पारदर्शिता स्वरूप में डालेंगे, जिस की खासियत से इस धंधे में होने वाली सभी प्रकार की गड़बड़ी समाप्त हो जाएगी और सिर्फ सच्चाई और अच्छाई |

पारदर्शिता फार्मूला तैयार करने का उद्देश्य :-

प्रस्तुत फार्मूला खोजने का मुख्य उद्देश्य यह है कि देश में हजारों कंपनियां विभिन्न तरीके से लकी ड्रॉ का धंधा कर रही है और प्रथम पुरस्कार लकी ड्रा नंबर में गड़बड़ खटोला का आरोप निशिचत  लगाया जा सकता है यदि साफ तौर पे, घोटालो  के मामले में कहां जाए, तो यह कहा जा सकता है कि लॉटरी कंपनियां बचे हुए लॉटरी टिकट नंबर को ही प्रथम पुरस्कार में घोषित कर देते हैं | जिसके अंतर्गत प्रत्येक दिन कई अरब रुपयों का घोटाला होता है | जो भोली भाली जनता को झूठा लोभ  दिला कर लॉटरी टिकट के माध्यम से लेती हैं | इतनी बड़ी घोटाला का मुख्य कारण है लकी ड्रा सिस्टम में पारदर्शिता प्रणाली नहीं है |

यदि लकी ड्रा सिस्टम को प्रदर्शित स्वरुप में डाला जाए तो इस माध्यम से राष्ट्रहित एव जनहित में कई अरब रुपयों का लाभ प्रत्येक महिना मिलता रहेगा  | वो  भी केंद्र सरकार के गार्डनशिप में |

मनोरंजन तरीके से इतनी बड़ी आर्थिक लाभ वर्तमान में किसी स्रोत से नहीं देखा जा रहा है | जो क्रिकेट खेल के द्वारा प्रस्तुत सिद्धांत के तहत मनोरंजन तरीके से प्राप्त किया जा सकता है  |

लाभान्वित पहलु

कोई भी बड़ी कंपनी इस पारदर्शिता स्कीम के तहत प्रत्येक महिना 5 – 7 अरब रुपया का लाभ राष्ट्रहित एवं जनहित में करते हुए उतना ही लाभ कंपनी भी खुद के लिए कर सकती हैं |

इस तरह देश की आबादी 1 अरब से अधिक हो चुकी हैं | यदि कोई कंपनी जनसंख्या के हिसाब से ₹25 वाली लक्की टिकट एक अरब देश में खेल करती हैं तो उसकी कीमत ₹25 अरब  होगी | जिसमें 5 अरब रूपया लाखों जनता को पुरस्कार के रुप में मिलेगा और 5 अरब रुपया इस धंधा के संचालन गतिविधि में और बचे 15 अरब रुपयों में से टैक्स के रूप में राजकोष की भारी मात्रा में लाभान्वित करते हुए, कई अरब रुपयों का लाभ कंपनियों को भी प्राप्त होगी | इस तरह गरीबी और बेरोजगारी के समय में प्रत्येक महीना लाखों व्यक्ति का परिवार धनवान बनेगा और लाखों  व्यक्तियों को स्थाई रूप से रोजगार प्राप्त होगा | और सरकारी राजकोष की समृद्धि भी होगी |

ये तो मात्र एक देश की एक कंपनी की ओर से इस धंधा का लाभांवित वर्णन है | यदि 5, 7 कंपनियां इस धंधे को अंजाम देंगे तो प्रस्तुत लाभ 5, 7  गुना अधिक हो जाएगी | प्रस्तुत लाभान्वित तथ्य मात्र एक देश की आबादी के हिसाब से दर्शाया गया है |

इतनी अधिक लाभान्वित स्कीम होने के नाते विश्व स्तर पर दुनिया की सभी देश अपनाएंगे तब भारत देश को रॉयल्टी के माध्यम से प्रत्येक दिन कई अरब रुपयों का लाभ प्राप्त होगा तथा भारत देश का नाम पूरी दुनिया में चमक उठेगा |

                      इन पारदर्शी की युक्ति के तहत कोई भी लॉटरी कंपनी की मनमानी, बेईमानी नहीं चलेगी |

प्रस्तुत पारदर्शीत युक्ति तहत यदी कोई लॉटरी कंपनी की टिकट कम बिकी  और बड़ी प्राइज ( 5, 10 लाख रुपया वाली ) किसी उपभोक्ता को लग गई तो कंपनी को बहुत बड़ी घाटा होगी | ये सोचकर बहुत सी लॉटरी कंपनियां लॉटरी का धंधा खुद ब खुद छोड़ देगी |

और केंद्र सरकार यही चाहती भी हैं की भोली-भाली जनता को ठगने वाली सभी लॉटरी धंधा बंद हो, लेकिन बंद नहीं हो रही है सरकार की लाख कोशिश के बावजूद भी | लेकिन प्रस्तुत पारदर्शिता लकी फार्मूला खेल-खेल में इन समस्याओं का समाधान करते हुए अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जनहित में कई आर्थिक लाभान्वित रोल अदा करेगी |

इन प्रदर्शित युक्ति के तहत सरकारी आदेशानुसार 20 , 25 लकी कंपनी देश में कार्य करेगी तो देश में हजारों लॉटरी कम्पनिया जो गढ़बढ़ घोटाला करती है वो स्वत: बंद हो जाएगी | क्योंकि जनता परदर्शित युक्ति बाली लाट्री टिकट पसंद करेगी |

गढ़बढ़ करने वाली सभी लॉटरी कंपनियो में संगठन होती है | इसलिए वह सभी गड़बड  घोटाला को पचा लेता है | लेकिन लॉटरी टिकट ग्राहकों का कहीं कोई संगठन केंद्र नहीं है | क्योंकि लॉटरी खेलों पर सरकारी प्रतिबंध है  |इसलिए गड़बड़ घोटाला कि कहीं कोई सुनवाई नहीं होता है | तभी तो लॉटरी का धंधा गड़बड़ घोटाला करते हुए फल फूल रही है | और भोली-भाली जनता मुरझा रही है | लेकिन प्रस्तुत फार्मूला इन भीषण समस्या का समाधान आसानी से करेगी | जो राष्ट्र के समक्ष प्रस्तुत है |